Abke Hum Bichhde Lyrics – Mehdi Hassan

Abke Hum Bichhde Lyrics

Ab Ke Hum Bichre To Shayad Kabhi Khwaabon Mein Milain
Jis Tarah Sukhe Huye Phool Kitabon Mein Milain
Dhoond Ujre Huye Logon Mein Wafa Ke Moti

Ye Khazane Tujhe Mumkin Hai Kharabon Mein Milain
Ab Ke Hum Bichre To Shayad…

TU Khuda Hai Na Mera Ishq Farishton Jaisa
Dono Insaan Hain Tou Kyun itne Hijabon Mein Milain?
Jis Tarah Sukhe Huye Phool Kitabon Mein Milain
Ab Ke Hum Bichre To Shayad…

Gham-e-Duniya Bhi Gham-e-yaar Mein Shaamil Kar Lo
Nasha Bardhta Hai Sharabein Jo Sharabon Mein Milain
Ab Ke Hum Bichre To Shayad…

Ab Na Wo Main Hun, Na TU Hai, Na Wo Maazi Hai “Faraaz”
Jaise Do Saaye Tamannaa Ke Saraabon Mein Milain
Jis Tarah Sukhe Huye Phool Kitabon Mein Milain
Ab Ke Hum Bichre To Shayad…

Abke Hum Bichhde Lyrics in Hindi

अब के हम बिछड़े तो शायद कभी ख़्वाबों में मिले
जिस तरह सूखे हुए फूल किताबों में मिले
ढूँढ उजड़े हुए लोगों में वफ़ा के मोती

ये खजाने तुझे मुमकिन है खराबों में मिले
अब के हम बिछड़े तो शायद…

तू खुदा है, न मेरा इश्क फरिश्तों जैसा
दोनों इंसान हैं तो क्यों इतने हिजाबों में मिले
अब के हम बिछड़े तो शायद…

ग़म-ए-दुनिया भी ग़म-ए-यार में शामिल कर लो
नशा बहता है शराबों में तो शराबों में मिले
अब के हम बिछड़े तो शायद…

अब लबों में हूँ न तू है न वो माज़ी है फ़राज़
जैसे तुम वो साये तमन्ना के सराबों में मिले
अब के हम बिछड़े तो शायद…

Anand Bora

I'm Music Enthusiast person, I like watching action movies and hanging out with my friends. Follow me on Google+ and Facebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *